Chairman
श्री सुंदर बनर्जी
अध्‍यक्ष एव प्रबंध निदेशक

 

जब से बीबीजे 1935 में निगमित हुई थी, तब से इसने एक लंबी और उपलब्धि भरी यात्रा की है । इस पूरी अवधि के दौरान बीबीजे अनेक अशांत घटनाओं का साक्षी रहा है । यह वस्तुबत: इसकी बुनियादी प्रकृति और मूल शक्ति थी, जिसने बीबीजे को समय के साथ स्थिर रखते हुए अपनी बहुरंगी यात्रा सहित अपने शानदार 83 वर्ष पूरे किये ।

स्वतंत्रता प्राप्तिे के पूर्व विख्यासत स्टील फैब्रिकेटर - बर्न स्टैंडर्ड, ब्रेथवेट और जेसप के साथ संयुक्त रूप से गठित हो कर, बीबीजे ने अपनी नैगम विरासत को बरकरार रखते हुए एक पहली निर्माण कंपनी के रूप में अपनी यात्रा शुरू की ।

प्रथम कतिपय दशकों के दौरान ही कोलकाता की विरासत और आलीशान इमारतों में 'कलकात्ताप मिंट', 'जीपीओ बिल्डिंग', 'मार्टिन बर्न हाउस' का निर्माण हुआ जो आज भी गौरव का प्रतीक है । इससे आगे बढ़ते हुए, नवीनता, सृजनात्मटकता और नवप्रवर्तनता सहित एक अद्भुत अभियान्त्रिकी चमत्कार के रूप में, हावड़ा ब्रिज, सस्पेंकशन ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा करना इसकी एक और सफलता की कहानी है ।

सत्तजर के दौरान प्रतिकूल स्थितियों के बीच भी निरंतरता को बनाये रखते हुए बीबीजे अपना अगला मील पत्थर स्थासपित करने में समय की अगली कड़ी में प्रवेश कर गई । प्रमुख दो हस्ताक्षर ब्रिजों, पहला ब्रह्मपुत्र नदी पर निर्मित जनप्रिय 'नरनारायण सेतु' और दूसरा गंगा नदी पर निर्मित 'विद्यासागर सेतु' ने इसकी उपलब्धियो में चार चॉंद लगा दिये थे । भारत सरकार द्वारा राष्ट्रा को समर्पित करने के समय से ही इन ब्रिजों ने ब्रह्मपुत्र और गंगा नदी की अलग-अलग सांस्कृतिक, सामाजिक और जातीय जरूरतों को एकीकृत किया, जो बीबीजे के इतिहास में गौरव का प्रतीक है ।

आगे अवसरों की तलाश करते हुए, बीबीजे ने साहस के साथ मुंगेर में गंगा नदी के ऊपर ब्रिज के निर्माण के लिए एक अन्या मेगा प्रोजेक्ट हासिल किया, जो आकार और मात्रा में बीबीजे द्वारा अब तक किये कार्यों की तुलना में काफी बड़ी थी । भारी उद्योग मंत्रालय और रेलवे मंत्रालय दोनों के तत्वाेवधान में, अपने समय परीक्षित तकनीक, समर्पित जन-शक्ति और कुशल प्रबंधन टीम के साथ, बीबीजे ने वास्तव में तकनीक में क्रांतिकारी बदलाव किया और अपने 'विशिष्ट ब्रांड' सहित प्रमुख खिलाड़ियों को उपयुक्तस स्था न प्रदान किया ।

अपनी शानदार यात्रा को आगे बढ़ाने के क्रम में, मणिपुर और मिजोरम के अन्य ब्रिजों के लिए प्रगामी निर्माण कार्य प्रौद्योगिकी के नवप्रर्वतन और आमेलन के क्षेत्र में बीबीजे की बुनियादी सक्षमता साबित करने के लिए पर्याप्तद है ।

यह स्मृ‍ति में रखना आवश्यमक है कि बीबीजे ने ब्रिज कंस्ट्रक्शन के विशाल कार्य में निर्बाध कार्य-प्रदर्शन सहित कई दशकों में ईंट पर ईंट जोड़कर अपना नाम सार्थक करते हुए अपनी बहुमूल्य सेवा देश और राष्ट्र को समर्पित की है । इसने राष्ट्रख को प्रचुर दिया है, उससे भी ज्या्दा आनेवाले समय में होगा । इस तरह आनेवाले समय में उच्चषतर वृद्धि हेतु सतत् लाभप्रदता व सम्भाीव्य ता के ट्रैक रिकॉर्ड सहित बीबीजे सम्मान, गर्व और गौरव समेत याद किये जाने लायक है ।